Multilingual
यौन हमले के उत्तरजीवियों की सुरक्षा का अधिनियम (Sexual Assault Survivors Protection Act (SASPA))—पीड़ितों के लिए सुरक्षा

यौन हमले के उत्तरजीवियों की सुरक्षा का अधिनियम (SASPA) कोविड-19 की स्थिति से निपटने के लिए एक अस्थायी सुरक्षात्मक आदेश प्राप्त करने की प्रक्रिया को संशोधित किया गया है (न्यू जर्सी की अदालतों से)

यौन हमले के उत्तरजीवियों की सुरक्षा का अधिनियम यौन अपराधों के पीड़ितों को काफी अधिक सुरक्षा प्रदान करता है। यह कानून यौन अपराधों के पीड़ितों को एक सुरक्षात्मक आदेश प्राप्त करने देता है।  आप इस कानून के बारे में यहां पढ़ सकते हैं: N.J.S.A. 2C:14-13 एवं अन्य।

सुरक्षात्मक आदेश क्या होता है?

सुरक्षात्मक आदेश यौन अपराधों के पीड़ितों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए होते हैं (जैसा कि नीचे विवरण दिया गया है)।  किसी यौन अपराध के पीड़ित को उस अपराध के बारे में पुलिस को रिपोर्ट करने की जरूरत नहीं होती है। पुलिस से बात किए बिना भी एक अंतिम सुरक्षात्मक आदेश प्राप्त किया जाना संभव है। पीड़ित चाहें तो उस अपराध के बारे में पुलिस को रिपोर्ट कर सकते हैं, लेकिन ऐसा करना ज़रूरी नहीं है।

सुरक्षात्मक आदेश एक ऐसा अदालती आदेश होता है जो एक अपराधी को किसी पीड़ित के साथ किसी भी प्रकार का संपर्क करने से मना करता है। इसमें, व्यक्तिगत रूप से, लिखित, इलेक्ट्रॉनिक, टेलीफ़ोन के जरिए या तीसरे पक्ष के माध्यम से संपर्क करना शामिल हैं। पीड़ित से संपर्क न करने के अलावा, अपराधी उनके परिवार, परिवार के सदस्यों, नियोक्ता, या सहकर्मियों से भी संपर्क नहीं कर सकता है। यह अपराधी को पीड़ित के घर, स्कूल या नौकरी के स्थान में प्रवेश करने से भी रोकता है।

सुरक्षात्मक आदेश किसी अपराधी को पीड़ित के खिलाफ भविष्य में यौन अपराध करने से भी रोकता है। सुरक्षात्मक आदेश अपराधी को बताता है कि वह पीड़ित पर नज़र नहीं रख सकता (या उसकी निगरानी नहीं कर सकता) या उसका पीछा नहीं कर सकता या सकती है। अपराधी पीड़ित को पीछा करने या उसका पीछा करने की धमकी नहीं दे सकता है। अपराधी पीड़ित व्यक्ति को व्यक्तिगत रूप से या ऑनलाइन सोशल मीडिया या ऑनलाइन अन्य तरीकों से संपर्क करके परेशान नहीं कर सकता है।

सुरक्षात्मक आदेश एक दो-चरण वाली प्रक्रिया है। सबसे पहले, एक अस्थायी सुरक्षात्मक आदेश दिया जाता है। फिर, यह निर्धारित करने के लिए कि पीड़ित को स्थायी सुरक्षा प्रदान करने के लिए अंतिम सुरक्षात्मक आदेश दर्ज किया जाना चाहिए या नहीं, लगभग 10 दिनों के बाद एक सुनवाई या परीक्षण आयोजित किया जाता है। सुरक्षात्मक आदेश कैसे प्राप्त करें, इसके बारे में अधिक जानकारी नीचे दी गई है।

सुरक्षात्मक आदेश कौन प्राप्त कर सकता है?

सुरक्षात्मक आदेश एक घरेलू हिंसा निरोधक आदेश की तरह ही होता है, सिवाय इसके कि आपका अपराधी के साथ संबंध होना ज़रूरी नहीं है। यौन अपराध का कोई भी पीड़ित व्यक्ति, चाहे वह अपराधी को जानता हो या नहीं, इस सुरक्षात्मक आदेश के लिए आवेदन कर सकता है। यह कानून एक पीड़ित को एक सुरक्षात्मक आदेश प्राप्त करने की अनुमति देता है, भले ही पीड़ित और अपराधी अजनबी हों, पड़ोसी हों या सहकर्मी हों। यदि अपराधी एक अजनबी था, तो आपको अदालत को कुछ पहचानने वाली जानकारी देने की आवश्यकता होगी, ताकि अदालत अपराधी तक इस आदेश को पहुंचा सके (सुनिश्चित करें कि व्यक्ति यह कानूनी दस्तावेज़ प्राप्त करता है)।

18 साल से कम उम्र के या विकासात्मक विकलांगता वाले व्यक्ति के माता-पिता या अभिभावक को उसकी ओर से सुरक्षात्मक आदेश दर्ज करना होगा। 18 वर्ष से कम उम्र के अपराधियों के खिलाफ सुरक्षात्मक आदेश दायर नहीं किया जा सकता है। नाबालिग अपराधी द्वारा किए गए यौन अपराध की सूचना पुलिस को दी जानी चाहिए।

अदालत को एक सुरक्षात्मक आदेश दर्ज करना होगा जब यह संभावना है कि यह आदेश पीड़ित की सुरक्षा और भलाई के लिए होगा।

पीड़ित एक सुरक्षात्मक आदेश का पात्र नहीं होते हैं यदि उन्हें घरेलू हिंसा निरोधक आदेश मिल सकता है। अगर वह अपराधी जिसने आपके खिलाफ यौन अपराध किया है, वह कोई ऐसा व्यक्ति है जिससे आपका विवाह हुआ है या आपका विवाह हुआ था, आप दोनों का एक बच्चे है, या आप उसके साथ डेटिंग कर रहे हैं या थे, या जिसके साथ आप कभी रहे हैं, तो आपको घरेलू हिंसा निरोधक आदेश दायर करना चाहिए। अदालत से आपको जो सुरक्षा मिलती है, वह दोनों के लिए समान है।

यौन अपराध क्या होता है?

एक सुरक्षात्मक आदेश प्राप्त करने के लिए, यह ज़रूरी है कि पीड़ित बिना उसकी रजामंदी के यौन संपर्क बनाए जाने का शिकार हुआ है। इसका मतलब है कि आप सहमत नहीं थे या आपने दूसरे व्यक्ति को यौन रूप से छूने या खुद को उसके सामने उजागर करने की अनुमति नहीं दी थी। इस संपर्क में अंतरंग भागों को उजागर करना या छूना या यौन प्रवेश करना शामिल हो सकता है। यहां तक ​​कि छूने की, उजागर करने या यौन प्रवेश करने की कोशिश करना भी कानून के दायरे में आते हैं।

यौन संपर्क तब होता है जब अपराधी (या अपराधी के निर्देश पर पीड़ित) पीड़ित या अपराधी के शरीर के अंतरंग भागों को छूता है।  यह स्पर्श सीधे शरीर पर या कपड़ों के माध्यम से हो सकता है। स्पर्श का उद्देश्य पीड़ित को नीचा दिखाना या अपमानित करना या अपराधी की यौन उत्तेजना के लिए होना चाहिए।

यौन प्रवेश अपराधी (या अपराधी के निर्देश पर) द्वारा योनि या गुदा मैथुन, मुख मैथुन, या गुदा या योनि में हाथ, उंगली या किसी वस्तु का प्रवेश करवाया जाना होता है।

अशिष्टता तब होती है जब अपराधी अपने जननांगों को उजागर करता है। यह उजागर करना अपराधी या किसी अन्य व्यक्ति की यौन संतुष्टि के उद्देश्य से होना चाहिए।
अंतरंग भागों में यौन अंग, जननांग या गुदा क्षेत्र, जांघ का आंतरिक हिस्सा, कमर, नितंब या स्तन शामिल हैं।

मैं सुरक्षात्मक आदेश कैसे प्राप्त करूं?

सुरक्षात्मक आदेश के लिए आवेदन करने के लिए, आपको सुपीरियर कोर्ट में सोमवार से शुक्रवार तक सुबह 8:30 बजे से 3:30 बजे के बीच जाना चाहिए। यदि अदालत बंद है, तो आप एक सुरक्षात्मक आदेश दायर करने में सक्षम नहीं होंगे।

आप उस काउंटी के कोर्ट हाउस में जा सकते हैं, जहां अपराध हुआ था, जहां या तो आप या अपराधी रहता है, या जहां आप शरण लिए हुए हैं।  यदि आप कोर्ट हाउस में नहीं जा सकते हैं, तो एक अपवाद अभी भी आपको आदेश के लिए आवेदन करने की अनुमति दे सकता है। इसलिए, यदि आप अस्पताल में हैं और यात्रा नहीं कर सकते हैं, तो भी आप अदालत से इस सुरक्षा की मांग कर सकते हैं। आपको अपराध की सूचना पुलिस को देनी ज़रूरी नहीं है, लेकिन आप ऐसा कर सकते हैं। यदि आपने पुलिस को अपराध की सूचना नहीं दी है तो आपके आवेदन को अदालत द्वारा ठुकराया नहीं जाएगा।

अस्थायी सुरक्षा आदेश मिलने के बाद क्या होता है?

अपराधी को इस आदेश की एक प्रति सर्व की (पहुंचाई) जाएगी। इसका मतलब है कि उन्हें पुलिस या एक शेरिफ अधिकारी द्वारा एक प्रति दी जाएगी। एक बार जब उन्हें आदेश की प्रति दे दी जाती है, तो उन्हें इसका पालन करना होगा। यदि अपराधी आदेश में दिए गए संरक्षणों का पालन नहीं करता है, तो आपको आदेश के उल्लंघन की रिपोर्ट करने के लिए तुरंत पुलिस को सूचित करना चाहिए।

जब आप एक अस्थायी सुरक्षात्मक आदेश प्राप्त करते हैं, तो लगभग 10 दिन बाद एक न्यायाधीश के सामने सुनवाई निर्धारित की जाएगी। यह तय करने के लिए कि क्या अस्थायी आदेश को अंतिम रूप दिया जाना चाहिए, न्यायाधीश विचार करते हैं कि:

  • यौन अपराध किया गया है, और
  • पीड़ित की सुरक्षा या कल्याण के लिए भविष्य में जोखिम की संभावना।

इन दो तत्वों को सबूतों की प्रधानता द्वारा सही साबित किया जाना ज़रूरी है। सबूतों की प्रधानता का सीधा मतलब है कि इस बात की अधिक संभावना है कि वे अपराध हुए हैं बजाय कि वे नहीं हुए हैं।

सुरक्षात्मक आदेश केवल इस लिए अस्वीकृत नहीं किए जाएंगे कि:

  • पीड़ित ने उस कार्रवाई की रिपोर्ट पुलिस में नहीं की थी,
  • वह पीड़ित व्यक्ति नशे में था,
  • उस पीड़ित व्यक्ति ने यौन संपर्क में आने से बचने के लिए उस स्थान को छोड़ नहीं दिया था, या
  • कोई शारीरिक चोट नहीं लगी है।

मुकद्दमे में पीड़ित के पिछले यौन आचरण और न ही घटना के होने के समय पर पीड़ित की पोशाक के बारे में कोई गवाही शामिल नहीं हो सकती है।

यदि एक अंतिम सुरक्षात्मक आदेश दर्ज किया जाता है, तो यह पीड़ित के शेष जीवनकाल तक या अदालत के अगले आदेश तक बना रहता है। अंतिम सुरक्षात्मक आदेश एक केंद्रीय रजिस्ट्री में रखे जाते हैं। यह रजिस्ट्री गोपनीय होती है और इस तक केवल पुलिस, अदालत और बाल संरक्षण और स्थायी प्रभाग सहित कुछ निर्दिष्ट एजेंसियों को ही सुलभ होती है।

यदि आप पीड़ित हैं और एक सुरक्षात्मक आदेश के बारे में कानूनी सलाह चाहते हैं, तो कृपया LSNJLAWSM, Legal Services of New Jersey के राज्यव्यापी, टोल-फ़्री कानूनी हॉटलाइन नम्बर, 1-888-LSNJ-LAW (1-888-576-5529) पर कॉल करें। आप ऑनलाइन जाकर सहायता के लिए आवेदन कर सकते हैं। ​​​

3/31/2021